Wednesday, March 31, 2010

पैनकार्ड नहीं बनवाने पर

देना होगा ज्यादा टैक्स

निज़ामाबाद. काल यानि 1 अप्रेल के बाद से जिन लोगों के पास पैनकार्ड नहीं होंगे, उन्हें अब 20 प्रतिशत ज्यादा टैक्स देना होगा। पिछले बजट में यह प्रावधन किया गया था। इसके पीछे सरकार का मकसद लोगों को पैन कार्ड बनवाने के लिए प्रोत्साहित करना है। पैनकार्ड बनवा लेने पर वह टैक्स अथॉरिटी के दायरे में आ जाएगा। भारत का टैक्स बेस केवल 3.3 करोड़ है, इसका कारण आय की सूचना न देना और आय में छूट के कई प्रावधानों का होना है।पैन कार्ड बनवा लेने के बाद टैक्स से बच निकलने का रास्ता नहीं रह जाएगा। जहां एक ओर सरकार के लिए पैनकार्ड बनवा लेने के फायदे हैं वहीं, विशेषज्ञों के अनुसार पैन कार्ड धारक वरिष्ठ नागरिकों पर इससे अनावश्यक बोझ पड़ेगा।वरिष्ठ नागरिक फॉर्म 15 एच भरकर टीडीएस में छूट पा लेते हैं, लेकिन यदि नए नियमों के लागू होने के बाद उनके पास पैनकार्ड नहीं होगा तो उन्हें 20 प्रतिशत टीडीएस भरना होगा। जो लोग टैक्स के दायरे में नहीं आते हैं उन्हें भी पैनकार्ड बनवाना होगा। वहीं टैक्स दायित्व नहीं होने पर उन्हें इसके लिए रिटर्न फाइल कर क्लेम करना होगा।नए नियमों का पालन नहीं करने पर भारी पेनल्टी लगाई जाएगी। गौरतलब है कि अब तक 8 करोड़ पैनकार्ड आयकर विभाग जारी कर चुका है। परमानेंट अकाउंट नंबर (पैन नंबर) आयकर विभाग यूटीआईटीएसएल और एनएसडीएल की मदद से जारी करता है। इस नए नियम के अंतर्गत भारतीय नागरिक से एक बार भी ट्रांजेक्शन करने वाले एनआरआई को भी पैन कार्ड बनवाना होगा।

No comments:

Post a Comment