Monday, July 19, 2010

आन्ध्र प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री
चन्द्र बाबू कों 26 तक की जेल

निज़ामाबाद(आन्ध्र प्रदेश),आन्ध्र प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री नारा चन्द्र बाबू सहित सभी 75 विधायकों, सांसदों एवम एम.एल.सी कों महाराष्ट्र के नादेड जिले की एक सब न्यालय धर्माबाद के मुंसिफ मजिस्ट्रेट दीपक माथा ने सोमवार कों धर्माबाद के ओधोगिक प्रशिक्षण केंद्र में अस्थाई बनाये गए अदालत मे अपना निर्णय सुनाया.
पता
हो के बाबु बीते शुक्रवार कों अपने सभी विधायकों,सांसदों एवम एम.एल.सी (जिनमें महिलाएं भी शामिल हैं.) के साथ महाराष्ट्र -आन्ध्र प्रदेश की सीमा से लाग कर बहने वाली गोदावरी नदी पर धर्माबाद के निकट बभाली बांध देखने जा रहे थे,जिन्हें दोनों प्रदेशों की सीमा बिद्रेली पर झूट बोलकर महाराष्ट्र पुलिस ने गिरिफ्तर कर वहीँ के आई.टी आई.में बंद कर रखा है.उल्लेखनीय है कि बाबु का कहना है कि वे केवल बांध देखना चाहतें हैं,लेकिन महाराष्ट्र सरकार एवम नादेड जिला प्रशासन ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी. जिसके कारण बाबु ने कहा कि वे बिना बांध देखे नहीं जाएँ गे.और वे लोग वहीँ सीमा पर धरने पर बैठ गए.बाद में महाराष्ट्र पुलिस ने उन्हें गिरिफ्तर कर वैकल्पिक न्यालय में प्रस्तुत किया,जहाँ पर मजिस्ट्रेट दीपक माथा ने पहले सभी कों सोमवार 19 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा था.जिसके लिए वहीँ के आई.टी.आई.कों ही एक जेल का रूप दे कर बाबु सहित सभी कों रखा.सोमवार कों बाबु समेत सभी गिरिफ्तर तेदपा नेतायों जमानत लेने से इंकार कर दिया.इस लिए अब सभी कों जेल भेजा जा रहा है.सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बाबु,देवेंदर गौड़ ,सांसद रमेश राठोड समेत कुछ कों नासिक जेल में तथा अन्य कों औरंगाबाद के जेल में भेजा जा रहा है.इस बीच बाबू कि गिरफ़्तारी विरोध में आज प्रदेश बंद का आह्वान तेदेपा ने किया था.जिसे सफल बताया जा रहा है.
प्रदीप श्रीवास्तव

No comments:

Post a Comment