Tuesday, July 20, 2010

बभाली बांध,जिसे देखने बाबू जा रहे थे.
-------------------------------------
बाबू सहित सभी तेदेपाई औरंगाबाद जेल भेजे गए
महाराष्ट्र पुलिस ने किया उनके साथ अभद्र व्यवहार

दो विधायक घाय ,कई बीमार ,मीडिया कों दूर रखा
निज़ामाबाद(आन्ध्र प्रदेश),नांदेड जिले के धर्माबाद में गोदावरी नदी पर बने बभाली बांध देखने जा रहे प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री एवम तेलगु देशम पार्टी के मुखिया नारा चन्द्र बाबू एवम उनके 74 विधायकों,सांसदों तथा एम.एल.सी.(जिनमें महिलाएं भी शामिल हें) कों शुक्रवार की दोपहर आन्ध्र -महाराष्ट्र की सीमा बिद्रेली पर महाराष्ट्र पुलिस ने सीमा उलंघन एवम धारा 144 तोड़ने के आरोप में गिरफ्तार कर धर्माबाद के आई.टी आई. में वैकल्पिक जेल बनाकर खा गया था . जिन्होंने सोमवार कों आग्रिम जमानत लेने से साफ मना कर दिया था कि पहले बांध

दिखाओ ,लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने इसकी अनुमति नहीं दी, जिसके कारण सभी तेदेपा नेताओं कों 26 जुलाई तक न्यायधीश दीपक माथा ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया ,जिन्हे मंगलवार (आज) की सुबह औरंगाबाद जेल भेज दिया गया.इस बीच खबर है की बाबू उनके सांसदों विधायकों के साथ महाराष्ट्र पुलिस ने बहुत बदसलूकी भी की है,जिसमे दो विधायकों कों चोटें भी आई हैं,जबकि पुलिस ने महिला नेताओं से भी अभद्र व्यव्हार किया है.सूत्रों से मिली जानकर की मुताबिक एक सामान्य पुलिस कर्मी ने बाबू पर पीक्षे से हाथ भी उठाया. मजे की बात तो यह है की उस समय नादेड के पुलिस अधीक्षक संदीप कार्निक भी वहीँ मोजूद थे,उनहोने भी कोई करवाई नहीं की.बताते हैं कि बीती रात एक पुलिस अधिकारी ने बाबू के साथ भी बदतमीजी कि थी,जिस पर बाबू भड़क उठे थे,इस घटना से उनके आँखों से आंसूं भी निकल पड़े .आई टीमें रखे गए सभी राजनैतिक कैदियों कि साथ जिस तरह का व्यव्हार वहाँ कि पुलिस कर रही है उसे सुन कर शर्म से आख्ने झुक जाती है. गिरफ्तारी के दोरान वहाँ कि बिजली काट दी जाती, तो पीने के लिए साफ पानी नहीं दिया गया.जिसके चलते दो एम.एल..डायरिया के शिकार हो गए जिंनका इलाज डाक्टरों के एक दल ने किया.उल्लेखनीय है कि इस घटना कर्म के दौरान आन्ध्र कि मीडिया कों वहाँ से दूर रखा गया .कई चेनलों के कैमरे तोड़ दिए पुलिस वालों ने,कई पत्रकारों कों पीटा भी .यह सब कुछ नादेड के वरिस्थ अधिकारियों के अलावा वहाँ के सांसद भास्कर राव पाटि कि मोजुदगी में हुआ.लेकी उनहोने ने भी अभी तक कोई करवाई के देश नहीं दिए.यह जो कोच हुआ वह भी महाराष्ट्र के मुख्य मंत्री अशोक राव चौव्हान के रह नगर में.दूसरी अहम् बात यह है कि आंध्र प्रदेश कि सरकार भी इस मामले में चुप्पी साधे हुए हैं .बाबू कि गिरफ्तारी कों लेकर तेद्पाई अब सडकों पर उतर आये हैं आन्ध्र क्षेत्र से मिल रही खबरों के मुताबिक ते.दे.पा.कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह पर तोड़ फोड़ शुरु कर दिए हैं।
प्रदीप श्रीवास्तव


No comments:

Post a Comment