Monday, August 30, 2010

SRIRAM SAGAR ,NIZAMABAD

श्रीराम सागर के नौ गेट खोले गए
निज़ामाबाद , रविवार की शाम दक्षिण की गंगा कही जाने वाली गोदावरी नदी पर निज़ामाबाद जिले के आरमुर तहसील मे पोचमपाड में बने श्रीराम सागर परियोजना(पोचमपाड डैम) केनौ गेट खोल दिए गए.क्यों कि गोदावरी नदी के उपरी क्षेत्रों में हो रही भारी बारिश के कारण जिला प्रशासन कों यह निर्णय लेना पड़ा.उल्लेखनीय है कि 1091 फीट जल संग्रहण कि क्षमता वाले इस परियोजना में रविवार कि दोपहर तक 1090 .10 फीट तक पानी का जमाव हो चुका था.इस सन्दर्भ में परियोजना के अधिकारियों के मुताबिक प्रति घंटा 60 हजार क्यूसेक पानी डैम में जमा हो रहा है.वहीँ गोदावरी के उपरी क्षेत्र महाराष्ट्र के नादेड ,परभणी नासिक जिलों में हो रही भारी बर्षा के कारण पानी का इनफ्लो तेजी से बढ़ रहा है.वहीँ दूसरी ओर मंजीरा नदी एवम नांदेड के विषाणुपूरी डैम से भी पानी छोड़ा जा रहा है.पता हो कि गत वर्ष अगस्त के अंतिम सप्ताह में कुल 1049 .10 फीट तक ही पानी जमा हुआ था.अधिकारियों के मुताबिक गोदावरी का पानी काकतिया,सरस्वती एवम लक्ष्मी नहरों द्वारा छोड़ा जा रहा है.इन सभी गेटों से 16 हजार क्यूसेक जल छोड़ा जा रहा है.उल्लेखनीय है कि गोदावरी नदी पर बना श्रीरा सागर सबसे बड़ा डैम है ,जिसमे 42 गेट बनाये गए हैं .जबकि औरंगाबाद (महाराष्ट्र )के पैठन में बना दूसरे नंबर का डैम है.श्री राम सागर परिय्जना कि आधारशिला 1957 में तत्कालीन प्रधान मंत्री स्व. जवाहर लाल नेहरू ने रखी थी.यह डैम राष्ट्रिय राज मार्ग नंबर 7 पर स्थित है. इस परियोजना से निज़ामाबाद,आदिलाबाद,नलगोंडा,वारंगल,करीम नगर एवम खम्मम जिले के किसानो कों सिंचाई का लाभ मिलता है.

video

No comments:

Post a Comment