Sunday, September 12, 2010

खबरें



तीन महीने में सोना
हो
सकता है २२ हजारी

नई दिल्ली म्युचुअल फंडों के साथ ही पूंजी बाजार में निवेश करने वालों के पास भारी नकदी होने से उनके पीली धातु की ओर रुख करने की संभावना बन रही है। इसके मद्देनजर अगले तीन महीने में अर्थात्‌ इस वर्ष के अंत तक सोने के २२ हजार रुपये प्रति १० ग्राम के स्तर पर पहुंचने की उम्मीद है। उद्योग एवं वाणिज्य मंडल एसोचैम ने कहा है कि म्युचुअल फंडों के साथ ही निवेशकों के पास ब़डी मात्रा में नकदी होने से उनके पीली धातुकी ओर म़ुडने की उम्मीद बन रही है। इसके साथ ही पूंजी बाजार में भी तेजी आ रही है, लेकिन पूंजी बाजार में टेक्नीकल करेक्शन होने पर उनके सोने में निवेश करने की संभावना है। इस निवेश से सोना २२ हजार रुपये प्रति १० ग्राम के स्तर तक जा सकता है। त्योहारी एवं विवाह के सीजन शुरू होने से दीपावली तक इसके २१ हजार रुपये प्रति १० ग्राम पर पहुंचने की संभावना जतायी गयी है। हालांकि संगठन ने कहा है कि कीमती धातुओं के अब तक उच्चतम स्तर पर पहुंचने से लघु एवं मंझौले आभूषण कारोबारियों के कामकाज के प्रभावित होने की पूरी संभावना है। उसका कहना है कि सोने के १९,५५० रुपये पर पहुंचने से अहमदाबाद के ३० से ४० प्रतिशत आभूषण निर्माताओं ने कारोबार बंद कर दिया है।

------------------------------------------------------------------------------

लोकप्रिय गायिका

स्वर्णलता का निधन

हैदराबाद । लोकप्रिय गायिका स्वर्णलता का आज यहां निधन हो गया। पिछले कुछ दिनों से वह लिवर (यकृत) के गंभीर रोग से पी़डत थीं और उनका एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। आज रविवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। गौरतलब है कि प्रसिद्ध संगीत निदेशक इलैया राजा उन्हें १९८२ में फिल्म उद्योग में लेकर आये थे। स्वर्णलता ने तेलुगु, तमिल, कन्ऩड, मलयालम, हिंदी तथा उर्दू भाषाओं में गीत गाये। तमिल फिल्म ‘कारुट्टम्मा’ के लिए उन्हें सर्वोत्तम गायिका के राष्ट्रीय पुरस्कार से भी नवाजा गया था।

--------------------------------------------------------------

अनाथाश्रम में ल़डकियों का

यौन शोषण ,संचालक गिरफ्तार

हैदराबाद। नाबालिग ल़डकियों का यौन शोषण करने के आरोप में वनस्थलीपुरम थाना पुलिस ने स्थानीय फेज४ स्थित टीवी कॉलोनी के सिरिया अनाथ आश्रम के संचालक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि एक स्थानीय टीवी चैनल के ‘स्टिंग ऑपरेशन’ के बाद हमने सिरिया अनाथ आश्रम के संचालक मलयाद्री को गिरफ्तार किया है। प्रारंभिक जांच के मुताबिक मलयाद्री अनाथ आश्रम में नाबालिग ल़डकियों का यौन शोषण करता था। पुलिस ने बताया कि वह देर रात ल़डकियों को यौन क्रिया के लिए अपने कक्ष में बुलाता था। यौन शोषण करने से पूर्व कई बार वह ल़डकियों को नशीली दवा का इंजेक्शन देकर उन्हें बेहोश कर देता था।पुलिस ने बताया कि प्रकाशम जिले के जरगुमल्ली मंडल के नर्सिंगोलु गांव का निवासी मेडिदा मलयाद्री (३७) गत कुछ वषा] नगर के नागौल इलाके के साईनगर में एक किराये के मकान में रहते हुए २००६ से सिरिया अनाथाश्रम चला रहा था। ३० बच्चों के साथ शुरू किये गये इस अनाथाश्रम में जब बारिश के मौसम में दिक्कत होने लगी, तब मलयाद्री ने तत्कालीन हुडा के चेयरमैन देवीरेड्डी सुधीर रेड्डी से अनाथ आश्रम के लिए दूसरी जगह की मांग की। इस पर सुधीर रेड्डी ने नये आश्रम की स्थापना के लिए वनस्थलीपुरम की टीवी कॉलोनी में एक हजार गज जमीन दिलवा दी। मलयाद्री ने दानदाताआें की मदद से यहां एक भवन बनवाया। फिलहाल इस अनाथाश्रम में करीब १२० ल़डकेल़डकियां हैं, जिन्हें यहां शिक्षा भी दी जाती है। पुलिस ने बताया कि यहां कुल ११ शिक्षक हैं, जिसमें से तीन आश्रम में ही रहते हैं, जबकि अन्य रोजाना यहां आकर अपनी ड्यूटी करके चले जाते हैं।बताया जाता है कि गत कई दिनों से मलयाद्री आश्रम की आठवीं व नौवीं कक्षा की आठ ल़डकियों को डराधमका कर रात में उनका यौन शोषण कर रहा था। इस बीच, रविवार की सुबह इसकी खबर मिलने पर वनस्थलीपुरम थाना के एसीपी श्रीनिवास रेड्डी व इंस्पेक्टर रवींद्र रेड्डी ने अपनी टीम के साथ अनाथाश्रम में जाकर पूछताछ की। ल़डकियों ने महिला पुलिस को बताया कि मलयाद्री रात को उनका यौन शोषण करता है, जिसके बाद पुलिस ने मलयाद्री को गिरफ्तार कर लिया।पुलिस ने बताया कि पत्नी व बच्चे होने के बावजूद मलयाद्री उनके साथ न रहते हुए आश्रम में ही रहा करता था। पहली पत्नी की माैैत के बाद उसने दूसरी शादी की और बच्चों व उसके अभिभावकों के साथ साईनगर में एक मकान में रहने लगा, लेकिन रात को वह अपने घर न जाकर आश्रम में ही रहता था। आश्रम के कर्मचारियों ने बताया कि मलयाद्री रोजाना किसी न किसी ल़डकी को अपने कमरे में बुलाकर उसका यौन शोषण करता था।अगर कोई ल़डकी नहीं जाना चाहती, तो उसे पीटते हुए वह जबरन अपने कमरे में ले जाता था। पुलिस ने बताया कि वह आठवीं व नौवीं कक्षा की ल़डकियों के साथ अश्लील भाषा में बातें भी करता था। उधर, मलयाद्री ने कहा है कि उसपर लगाये गये सभी आरोप गलत हैं। उसने कहा, ‘अनाथ ल़डके व ल़डकियों की सेवा करने के उद्देश्य से ही मैंने सिरिया आश्रम की स्थापना की और दानदाताआें की मदद से उन्हें शिक्षित कर रहा हूं। मैंने ल़डकियों का कोई यौन शोषण नहीं किया है। कोई उन्हें परेशान न करे, इसलिए मैं वहां पहरेदारी करते हुए आश्रम में ही सो जाया करता था।वनस्थलीपुरम के एसीपी ने बताया कि पक्की सूचा मिलने के बाद उन्होंने ल़डकियों से पूछताछ की। उन्होंने कहा कि अगर मलयाद्री पर आरोप सही पाये जाते हैं, तो उसके खिलाफ संगीन मामले दर्ज किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि जरूरी हुआ, तो पी़डतों का मेडिकल टेस्ट भी कराया जायेगा।इस बीच, एलबी नगर के विधायक सुधीर रेड्डी ने कहा कि यदि मलयाद्री पर आरोप साबित होता है, तो उसे क़डी से क़डी सजा मिलनी चाहिए।

-------------------------------------------------------------------------------

तेलंगाना : छात्रों के खिलाफ

मामले वापस लेने की मांग

हैदराबाद. आंध्र प्रदेश में तेलंगाना क्षेत्र के कांग्रेस नेताओं ने राज्य सरकार से तेलंगाना आंदोलन में भाग ले रहे छात्रों एवं युवाओं के खिलाफ दर्ज मामले दो अक्टूबर तक वापस लेने की मांग की है।सत्तारूढ़ पार्टी के सांसदों, विधायकों एवं अन्य नेताओं ने अगली रणनीति तय करने के लिए रविवार को बैठक की। बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ नेता के. केशव राव ने की।कुछ प्रतिभागियों ने सुझाव दिया कि यदि मामले वापस नहीं लिए जाते हैं तो आंध्र प्रदेश स्थापना दिवस (1 नवंबर) के कार्यक्रमों का बहिष्कार किया जाए। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष दिसंबर में केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदंबरम द्वारा की गई घोषणा पर अमल नहीं किया गया।उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष अलग तेलंगाना राज्य के लिए किए गए हिंसक प्रदर्शनों में शामिल छात्रों एवं युवाओं के खिलाफ पुलिस ने मामले दर्ज किए थे।यदि दो अक्टूबर तक मामले वापस नहीं लिए गए तो ये नेता फिर बैठक कर आन्दोलन का निर्णय लेंगे।



3 comments: