Thursday, October 14, 2010

तेलंगाना के सभी दस जिलों में 'स्टूडियो- एन' का प्रसारण

तेलंगाना के सभी दस जिलों में
'स्टूडियो- एन' का प्रसारण बंद

निज़ामाबाद .नारने नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड,हैदराबाद द्वारा संचालित तेलगु समाचार चैनल स्टूडियो- एन का गुरुवार की दोपहर से तेलंगाना के सभी दस जिलों में प्रसारण बंद कर दिया गया है. बंद करने के कारणों की जानकारी देते हुए फेडरेशन आफ तेलंगाना मल्टीसिस्टम आपरेटर्स के अध्यक्ष कुलदीप सहनी ने बताया कि बुधवार को बिना कोई कारण बताओ नोटिस दिए नारने नेटवर्क के प्रबंधन मंडल ने लगभग सत्तर कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है.जिसमे इनपुट व आउटपुट के लोग भी शामिल हैं.श्री सहनी ने कहा कि दक्षिण भारत का सबसे महत्वपूर्ण त्योहार दशहरा दो दिन बाद है,जिसके लिये कम्पनियाँ अपने करमचारियों को बोनस देती है वहीँ स्टूडियो -एन के कर्मचारियों को बोनस के रूप में बाहर का रास्ता दिखाना कहाँ तक उचित है.कर्मचारी सड़क पर आ गए हैं,उनके परिवार वालों की हालत देखिये.जिनके यहाँ दुःख का माहौल पैदा हो गया है.श्री सहनी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि निकले गए कर्मचारियों में पैसठ कर्मचारी तो केवल तेलंगाना क्षेत्र के ही हैं .उनहोने यह भी कहा कि यह सब प्रबंधन मंडल केवल इस लिये कर रहा है कि वहाँ से तेलंगाना के लोगों को निकला जा सके.जिसे अब बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. उनहोने गुरुवार कि दोपहर एक बजे तक नेटवर्क प्रबंधन को चेतावनी दी थी कि यदि एक बजे तक कर्मचारियों को काम पर वापस निहीं लिया जाता है तो उनके (स्टूडियो- एन) समाचार चेनल का प्रसारण पूरे तेलंगाना के सभी दस जिलों में रोक दिया जायेगा.जिसके तहत दोपहर बाद प्रसारण पर रोक लगा दी गयी.उल्लेखनीय है कि नारने नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड का संचालन प्रदेश के मुख्यमंत्री एवम तेलगु देशम पार्टी के मुखिया नारा चन्द्र बाबू के सुपुत्र लोकेश नायडू करते है.यह सर्व विदित है कि पृथक तेलंगाना राज्य के कट्टर विरोधी हैं बाबू.उधर स्टूडियो-एन के एक कर्मचारी ने बताया कि कंपनी ने विगत 18 माह से अंशकालिक सवंदाताओं एवं कैमरामैनों का भुगतान नहीं किया है.किसको लेकर उनमें काफी रोष है.सहनी का कहना है कि जब तक कर्मियों को कामपर वापस नहीं लिया जाता है,तबतक प्रसारण बंद रहेगा.

No comments:

Post a Comment