Monday, November 29, 2010


जगन के इस्तीफे के बाद

विभिन्न जिलों में प्रदर्शन

हैदराबाद। जगन मोहन रेड्डी द्वारा कांग्रेस से इस्तीफा दिये जाने की घोषणा के तुरंत बाद उनके समर्थकों ने आज पूरे कृष्णा जिले में प्रदर्शन किया। उन्होंने मांग की कि कांग्रेस आलाकमान को उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं करना चाहिए और उनके खिलाफ कार्रवाई भी नहीं करनी चाहिए। यहां कांग्रेस कार्यालय में काफी संख्या में युवक इकट्ठा हो गए और जगन के साथ एकजुटता दिखाते हुए उनके समर्थन में नारे लगाए। गुडीव़ाडा में उनके समर्थकों ने कांग्रेस कार्यालय को क्षतिग्रस्त कर दिया और सोनिया गांधी के पुतले जलाए, जबकि विसन्नापेट में स्थानीय स्वशासन निकाय के सात निर्वाचित सदस्यों ने जगन के समर्थन में अपने इस्तीफे की घोषणा की।क़डपा से सांसद वाईएस जगन के इस्तीफे के समर्थन में गुंटूर जिले में उनके प्रशंसकों नेताआें ने आंदोलन, रास्ता रोको तथा इस्तीफे दिये। सत्तेनपल्ली के विधायक येर्रम वेंकटेश्वर रेड्डी से विधायक पद से इस्तीफा देने की मांग को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ताआें ने उनके घर का घेराव किया। जिले के नरसारावपेट तेनाली में रास्ता रोको कार्यक्रम का आयोजन किया। गुंटूर सहित अच्चमपेट, विनुकोंडा, गुरुजाला, माचर्ला आदि शहरों में कांग्रेस कार्यकर्ताआें ने आंदोलन किया तथा कई जगहों पर सोनिया गांधी के पुतले जलाये। सांसद वाईएस जगनमोहन रेड्डी के कांग्रेस की सदस्यता और सांसद पद से इस्तीफे के बाद चित्तूर जिले में कई जनप्रतिनिधियों ने अपनेअपने पदों से इस्तीफा दे दिये। वाईएस जगनमोहन रेड्डी और उनकी मां विजयम्मा के इस्तीफे का ओंगोल जिले में कोई खास प्रभाव देखने को नहीं मिला। जगन समर्थकों ने प्रकाशम जिला कांग्रेस कार्यालय पर ताला लगा दिया। जिले में कई जगहों पर सोनिया के पुतले फूंके गये। जगन के इस्तीफे के समर्थन में पश्चिमी गोदावरी जिले में भी कई नेताआें ने पार्टी पदों छोटेछोटे आधिकारिक पदों से इस्तीफा दे दिया। जिले के चिंतलपूडी, येलूरुख, देंदुलूरु, कोयेलग़ूडेम, जंगारेड्डीग़ूडेम, गोपालपुरम जीलुगुमिल्ली में सोनिया गांधी के पुतले फूंके गये। पूर्वी गोदावरी जिले के सामर्लकोटा में जगन समर्थकों ने सोनिया गांधी का पुतला जलाकर धरना दिया। उसी तरह, अल्लवरम मंडल के तुम्मलपल्ली में जगन युवा सेना के कार्यकर्ताआें ने रास्ता रोको कार्यक्रम आयोजित किया। इस दौरान जगन समर्थकों ने सोनिया गांधी का पुतला फूंका तथा उनके खिलाफ नारे लगाये। अनंतपुर जिले में भी जगन और उनकी मां विजयम्मा के इस्तीफे का काफी असर देखने को मिला। जगन प्रशंसकों, कांग्रेस रैतु संघम आदि प्रशंसक संघों के कार्यकर्ताआें ने ब़डे पैमाने पर अनंतपुर जिले में विरोध प्रदर्शन, रास्ता रोको तथा विरोधी रैली का आयोजन किया। कुछ जगहों पर सोनिया गांधी के पुतले जलाये। अनंतपुर के सप्तगिरि सर्किल पर सोनिया गांधी का पुतला फूंका गया। पुलिस ने इस मामले में २४ लोगों को गिरफ्तार किया। जगन के इस्तीफे की खबर सुनकर बेलुगुप्पा की एक महिला ने कोल्लक्का ने आत्महत्या करने की कोशिश की, जिसे बाद में अनंतपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसी तरह, हिन्दुपुरम निर्वाचन क्षेत्र में भी विरोध प्रदर्शन किया गया। आज पूरे क़डपा जिले में भी विरोध प्रदर्शन और आंदोलन होते रहे। जगन समर्थकों ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के पुतले के साथ पार्टी का झंडा भी जलाया तथा कांग्रेस पार्टी कार्यालयों में जबर्दस्त त़ोडफ़ोड की। जिला कांग्रेस अध्यक्ष सहित जिला ग्रंथालय संस्था के चेयरमैन, मार्केट यार्ड चेयरमैन सहित एमपीटीसी, एपीपीपी, जेडपीटीसी तथा कांग्रेस से ज़ुडे संगठनों के प्रभारियों चेयरमैनों ने सामूहिक रूप से अपने पदों से इस्तीफा दे दिये। वाईएस राजशेखर रेड्डी और जगन के समर्थकों ने गुस्से में जिला कांग्रेस पार्टी कार्यालय में त़ोडफ़ोड की। कार्यालय का फर्नीचर और शीशे त़ोड दिये तथा सोनिया गांधी की तस्वीरों वाली प्लेक्सी फ़ाड दी। प्रदर्शनकारियों ने सोनिया गांधी के पोस्टरों की चप्पलों से पिटाई की तथा उनके पोस्टर और पुतलों को आग लगाकर अपना गुस्सा उतारा। बाद में क़डपा स्थित जिला कांग्रेस पार्टी कार्यालय इंदिरा भवन को वाईएस भवन के रूप में तब्दील कर दिया। तत्पश्चात वाईएस प्रतिमा का दुग्धाभिषेक किया। पूरे जिले में विरोध रैली, रास्ता रोको तथा प्रदर्शन किये गये।


















No comments:

Post a Comment