Friday, December 10, 2010


ताप्ती की महिमा से अनजान है सरकार

बैतूल। इसे संयोग ही कहे कि मां सूर्यपुत्री ताप्ती की महिमा से मध्यप्रदेश की सरकार भले ही अनजान हो लेकिन आंध्रप्रदेश के दो प्रमुख शहरों विजयवाडा एवं गुंटूर से 17 तीर्थयात्रियों का जत्था पुष्कर तीर्थ योग मे सूर्यपुत्री मां ताप्ती में स्नान करने के लिए ताप्ती जन्मस्थली मुलतापी मुलताई आया। तीर्थयात्री बाबूराव, रविशंकर, रामू, पी नागेश्वरराव, जी रंगाराव ने बैतूल जिले में स्थित मुलतापी नामक सूर्यपुत्री मां ताप्ती की जन्मस्थली के सरोवर में स्नान करने के बाद तर्पण, पिंडदान सहित वैदिक मंत्रोचार के साथ मां ताप्ती का पूजन किया। आंध्रप्रदेश में सूर्यपुत्री मां ताप्ती को प्रणिती नदी के नाम से जाना जाता है। वैदिक संस्कृति के अनुसार प्रत्येक वर्ष में एक नदी का 12 दिन का पुष्कर योग होता है। इस शुभ घड़ी पर त्रिलोक के रचयिता भगवान ब्रम्हा, विष्णु, महेश तीनों के साथ तैतीस कोटि के भगवान पुण्य सलिला मां ताप्ती में आकर स्नान - ध्यान करते हैं। पुष्कर योग में भी जिस नदी का योग होता है, उसी में स्नान करने से पुण्य लाभ मिलता है।तीर्थराज पुष्कर के समान पुण्य लाभ देने वाली मां आदि गंगा ताप्ती में स्नान करने के बाद पूरे सातों कुण्डो का दर्शन लाभ लेने के बाद सभी तीर्थयात्री आस्था एवं पवित्र नगरी मुलतापी मुलताई में विभिन्न मंदिरो एवं शिवालयों में भी दर्शन के लिए गये। बाबूराव के अनुसार यूं तो आंध्र प्रदेश के तिरूपति बालाजी के दर्शन करने के लिए लाखों लोग प्रतिदिन माह आते हैं, लेकिन बिरले ही लोग इस पुण्य सलिला में स्नान - पूजन - ध्यान करके वह पुण्य प्राप्त करते हैं, जो कि बालाजी भगवान के मंदिर में कई बार जाने से प्राप्त होता है। मां ताप्ती जागृति मंच ने ताप्ती महिमा के जन - जन तक पहुंचने के प्रयास में इन तीर्थयात्रियों की भागीदारी को अहम बताया है। मंच ने प्रदेश की सरकार से निवेदन किया है कि वे आंध्र प्रदेश से आये तीर्थयात्रियो से कुछ सीखें और अपनी भूल को सुधार कर ताप्ती महिमा को जन - जन तक पहुंचाने में सारथी बने।

बैतूल से रामकिशोर पंवार की रिपोर्ट.









ताप्ती नदी ही है प्राणहिता ,जहाँ पुष्कर मेला चल रहा है

उपरोक्त सभी चित्र आन्ध्र प्रदेश के आदिलाबाद जिले के कौटाला तहसील के तुमुड्डीहट्टी गाँव के हैं जहाँ से प्राणहिता (जिसे मध्य प्रदेश में ताप्ती नदी के नाम से जाना जाता है) नदी बहती हैं.आजकल प्राणहिता पुष्कर मेला वहां पर चल रहा है.पुष्कर मेले के लिए आंध्र प्रदेश के सभी जिलों से राज्य परिवहन की विशेष बसें चल रही हैं.निकटम रेलवे स्टेसन आदिलाबाद एवम सिरपुर कागज नगर है.

2 comments:

  1. हे मां सूर्यपुत्री , शनिदेव की प्यारी बहन , राजा कुरू की ममतामयी मां नमामी देवी ताप्ती - भद्रा - तापती - तपती ऐसा वर दे कि मैं एक अदना सा आपका सेवक आपके यशगान को पूरे देश - विदेश तक हर घर - घर तक पहुंचा सकूं और मेरा जीवन आपके चरणो के निर्मल जल में ही मुक्ति पायें। हे सूर्यवंश में जन्मी कुरूवंश के संस्थापक कुरू की मां एवं चन्द्रवंशी के प्रतापी राजा सवरण की जीवन संगनी पुण्य सलिला मां ताप्ती अपनी असीम कृपा मेरे ऊपर ही नहीं पूरी दुनिया पर अमृत रूपी जलधारा के रूप में बरसा ताकि कोई भी आपके जल से जीव - जन्तु - वनस्पति - वायु - आकाश - धरती - पाताल - स्वर्ग सहित कोई भी लोक अधुरा न रहे। हे ममत मयी मां मैं अपने आप को बहुंत बडा भाग्यशाली समझता हँू क्योकि मेरा जन्म और आपका जन्म भी उसी क्षेत्र में हुआ है जहां पर आज आपका पावन - निर्मल जल कई युगो एवं सदियो से बहता चला आ रहा है। हे ममता मयी मां मुझे अपने भाग्य पर गर्व है क्योकि मैं आपकी यश कीर्ति का गान कर रहा हँू क्योकि पुराणो में कहा गया है कि गंगा में सौ बार स्नान का , नर्मदा के दर्शन का और आपके नाम के स्मरण का समान पुण्य मिलता है। नया साल सभी के जीवन में खुशहाली लाये और मेरा जिला - प्रदेश - देश पूरी दुनिया में अपना यश को चारो दिशाओं में आपके पूज्य पिता श्री सूर्य नारायण के तेज एवं प्रकाश की तरह फैले
    आपका मानस पुत्र कहलाने को इच्छुक
    अभिलाषी
    रामकिशोर पंवार
    संस्थापक
    मां ताप्ती जागृति मंच बैतूल
    एवं समस्त सदस्य एवं श्रद्धालु भक्त


    O mother Suryputri, Ashdireo the beloved sister of King Kuru Anmami Mamatamyie mother goddess Tapti - Bhadra - Tapti - Tapti that I do give the groom a bit Unlock your servant your Yashgane the country - foreign to each house - the house came up and I pose Get your Charono liberation of life in pure water. O Suryvansh Kuruvansh-born founder of the majestic king of Kuru Chandrawanshi Swaran's mother and mother's life Sanaganie virtue Slila Tapti his boundless grace on me not only the world as the nectar Rupee stream water from your shower so no creatures - animal - plant - air - Sky - Earth - Inferno Paradise - including any public are not incomplete. O Mamat Mayie mother I am because I consider myself lucky big Bhunt birth and your birth is in the same area where your sacred today - clear water flows from several Yugo and Sadio has been going on. O Mamata Mayie mother proud of me luck because I'm doing the anthem of your renown fame because Purano said that a hundred times a bath in the Ganges, Narmada virtue of the same philosophy and get your name remembered. New Year bring all the happiness in life and my district - State - Country directions around the world to your glory in your holy father Shri Surya Narayan spread as fast and light
    Your mind willing to be called son
    Wishful
    Ramkishoar Pawar
    Founder
    Maa Tapti Awakening Forum Betul
    And all members and faithful devotee

    ReplyDelete
  2. हे मां सूर्यपुत्री , शनिदेव की प्यारी बहन , राजा कुरू की ममतामयी मां नमामी देवी ताप्ती - भद्रा - तापती - तपती ऐसा वर दे कि मैं एक अदना सा आपका सेवक आपके यशगान को पूरे देश - विदेश तक हर घर - घर तक पहुंचा सकूं और मेरा जीवन आपके चरणो के निर्मल जल में ही मुक्ति पायें। हे सूर्यवंश में जन्मी कुरूवंश के संस्थापक कुरू की मां एवं चन्द्रवंशी के प्रतापी राजा सवरण की जीवन संगनी पुण्य सलिला मां ताप्ती अपनी असीम कृपा मेरे ऊपर ही नहीं पूरी दुनिया पर अमृत रूपी जलधारा के रूप में बरसा ताकि कोई भी आपके जल से जीव - जन्तु - वनस्पति - वायु - आकाश - धरती - पाताल - स्वर्ग सहित कोई भी लोक अधुरा न रहे। हे ममत मयी मां मैं अपने आप को बहुंत बडा भाग्यशाली समझता हँू क्योकि मेरा जन्म और आपका जन्म भी उसी क्षेत्र में हुआ है जहां पर आज आपका पावन - निर्मल जल कई युगो एवं सदियो से बहता चला आ रहा है। हे ममता मयी मां मुझे अपने भाग्य पर गर्व है क्योकि मैं आपकी यश कीर्ति का गान कर रहा हँू क्योकि पुराणो में कहा गया है कि गंगा में सौ बार स्नान का , नर्मदा के दर्शन का और आपके नाम के स्मरण का समान पुण्य मिलता है। नया साल सभी के जीवन में खुशहाली लाये और मेरा जिला - प्रदेश - देश पूरी दुनिया में अपना यश को चारो दिशाओं में आपके पूज्य पिता श्री सूर्य नारायण के तेज एवं प्रकाश की तरह फैले
    आपका मानस पुत्र कहलाने को इच्छुक
    अभिलाषी
    रामकिशोर पंवार
    संस्थापक
    मां ताप्ती जागृति मंच बैतूल
    एवं समस्त सदस्य एवं श्रद्धालु भक्त


    O mother Suryputri, Ashdireo the beloved sister of King Kuru Anmami Mamatamyie mother goddess Tapti - Bhadra - Tapti - Tapti that I do give the groom a bit Unlock your servant your Yashgane the country - foreign to each house - the house came up and I pose Get your Charono liberation of life in pure water. O Suryvansh Kuruvansh-born founder of the majestic king of Kuru Chandrawanshi Swaran's mother and mother's life Sanaganie virtue Slila Tapti his boundless grace on me not only the world as the nectar Rupee stream water from your shower so no creatures - animal - plant - air - Sky - Earth - Inferno Paradise - including any public are not incomplete. O Mamat Mayie mother I am because I consider myself lucky big Bhunt birth and your birth is in the same area where your sacred today - clear water flows from several Yugo and Sadio has been going on. O Mamata Mayie mother proud of me luck because I'm doing the anthem of your renown fame because Purano said that a hundred times a bath in the Ganges, Narmada virtue of the same philosophy and get your name remembered. New Year bring all the happiness in life and my district - State - Country directions around the world to your glory in your holy father Shri Surya Narayan spread as fast and light
    Your mind willing to be called son
    Wishful
    Ramkishoar Pawar
    Founder
    Maa Tapti Awakening Forum Betul
    And all members and faithful devotee

    ReplyDelete