Wednesday, January 19, 2011

केंद्रीय मंत्रिमंडल का विस्तार,

तेलंगाना की फिर उपेक्षा

निज़ामाबाद । भ्रष्टाचार व महंगाई के मुद्दों के साथ-साथ अलग तेलंगाना के मुद्दे पर मुश्किलों का सामना कर रही केन्द्र की यूपीए सरकार ने आखिरकार बुधवार को मंत्रिमंडल में फेरबदल कर दिया है। दूसरे कार्यकाल के पहले फेरबदल में तीन नए मंत्रियों को जगह दी गई है जबकि तीन राज्य मंत्रियों का प्रमोशन कर केबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। केसी वेणुगोपाल, बेनीप्रसाद वर्मा और अश्विनी कुमार तीन नए चेहरे है। प्रफुल्ल पटेल, सलमान खुर्शीद और श्रीप्रकाश जायसवाल को केबिनेट मंत्री बनाया गया है।
लेकिन इस बार भी तेलंगाना के सांसदों की पूरी उपेक्षा की गई है। इस बात के कयासलगाये जा रहे थे कि इस बार तेलंगाना के मामले पर इस क्षेत्र से कम-कम दो सांसदों को मंत्री मंडल में जगाह जरुर दी जायेगी ,जिनमे निज़ामाबाद के सांसद मधु गौड़ याश्की एवं करीम नगर के पूनम प्रभाकर के नामों की चर्चा भी थी.यहाँ तक कि बीती रात निज़ामाबाद सांसद श्री गौड़ के कार्यालय से सभी अखबारों एवम चैनलों तक को इस आशय कि पुखता जानकारी तक भी दे दी गई थी .कयास इस बात के भी लगाये जा रहे थे कि तेलंगाना मामले को ठन्डे बस्ते में डालने के लिय संप्रग सरकार यह निर्णय भी ले सकती है .हाल हे में तेलंगाना से उप मुख्य मंत्री बनाये जाने की भी चर्चा जोरों पर है,केंद्र यह कर के शयद तेलंगानावासियों को झुनझुना थमाना चाहती है.
उधर राष्ट्रपति प्रतिभा पाटील ने बुधवार शाम सभी मंत्रियों को शपथ दिलाई। डीएमके और तृणमूल कांग्रेस को इस फेरबदल से कोई फायदा नहीं मिला है। नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री प्रफुल्ल पटेल को भारी उद्योग मंत्री बना दिया गया है। जबकि कानपुर से कांग्रेस सांसद श्रीप्रकाश जायसवाल को कोयला मंत्रालय सौंपा गया है। सलमान खुर्शीद जल संसाधन मंत्री बनाए गए हैं। पहले उनके पास कॉर्पोरेट अफेयर्स मंत्रालय था। व्यालार रवि को नागरिक उड्डयन मंत्रालय का जिम्मा सौंपा गया है।
जोशी से ग्रामीण विकास मंत्रालय छिना
कांग्रेस नेता और राजस्थान में पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी से ग्रामीण विकास मंत्रालय छिन गया है और अब विलासराव देशमुख ग्रामीण विकास मंत्री का जिम्मा संभालेंगे। जोशी को सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय दिया गया है।
जयपाल रेड्डी को पेट्रोलियम मंत्रालय
पेट्रोलियम मंत्री मुरली देवड़ा को नई केबिनेट में कंपनी मामलों का प्रभार सौंपा गया गया जबकि देवड़ा की जगह एस. जयपाल रेड्डी पेट्रोलियम मंत्रालय देखेंगे। वीरभद्र सिंह लघु उद्योग, ई अहमद विदेश राज्यमंत्री, पवन बंसल विज्ञान एवं तकनीकी, सुबोध कांत सहाय पर्यटन मंत्री, जितिन प्रसाद परिवहन हाइवे राज्यमंत्री बनाए गए हैं।
गिल से छिना विभाग, माकन युवा खेल मंत्री
अजय माकन को खेल मंत्रालय स्वतंत्र प्रभार दिया गया है। वहीं एम।एस. गिल अब सांख्यिकी कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय देखेंगे।
----------------------------------------------------------

आंध्रप्रदेश: के 10 लाख
कर्मचारी हड़ताल पर
हैदराबाद। आंध्र प्रदेश में 10 लाख कर्मचारियों के हड़ताल पर चल जाने से काम-काज ठप हो गया है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक राज्य में शिक्षकों सहित करीब 10 लाख कर्मचारी तीन दिन की हड़ताल पर है। इस कारण राज्य को रोजाना 158 करोड़ का नुकसान हो रहा है। तीन दिन हड़ताल चलने के कारण 474 करोड़ रूपए का नुकसान होगा। कर्मचारियों का कहना है कि सरकार को हो रहे आर्थिक नुकसान के लिए वे जिम्मेदार नहीं है । उनका कहना है कि वे लम्बे समय से धैर्यपूर्वक सरकार के जवाब का इंतजार कर रहे थे। लेकिन सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि उन्होंने सरकार के सामने कोई नई मांग नहीं रखी है। वे चाहते है कि 9वें वेतन समीक्षा कमीशन की सभी सिफारिशों को लागू किया जाए। कमीशन ने 2009 में 12 सिफारिशें दी थी इनमें से सिर्फ एक मांग मानी गई है। कर्मचारियों की ओर से हेल्थ कार्ड जारी करने और हाउस रेंट बढ़ाने की मांग की जा रही है। जबकि सरकार का कहना है कि जल्द ही आरोग्य ट्रस्ट का निर्माण किया जाएगा और स्वास्थय बीमा कार्ड जारी किए जाएंगे। जबकि हाउस रेंट बढाए जाने की बात पर सरकार कैबिनेट सब कमेटी ने सिफारिश दी कि केवल दो फीसदी तक ही हाउस रेंट बढ़ाया जा सकता है। शहर के आधार पर नहीं। इधर, कर्मचारी बीमा कंपनियों से हेल्थ कार्ड जारी किए जाने के विरोध कर रहे हैं। कर्मचारी यूनियन का कहना है कि सरकार सिर्फ कैबिनेट की बैठक कर रही है। उधर कर्मचारियों का कहना है कि यदि सरकार उनकी मांगे नहीं मानेगी तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चल जाएंगे।

No comments:

Post a Comment