Tuesday, February 15, 2011

तेलंगाना राजनीतिक जेएसी

का असहयोग आंदोलन सत्रह से

हैदराबाद। तेलंगाना राजनीतिक संयुक्त कार्रवाई समिति (जेएसी) ने आगामी संसदीय बजट सत्र में ही पृथक तेलंगाना राज्य की गठन प्रक्रिया शुरू करने की मांग को लेकर इस महीने की १७ तारीख से असहयोग आंदोलन शुरू करने का निर्णय किया है। जेएसी के अध्यक्ष प्रो कोदंडराम ने एक संवाददाता सम्मेलन में असहयोग आंदोलन के कार्यक्रम की घोषणा की।
उन्होंने बताया कि तेलंगाना के सभी वगा] के लोग इस असहयोग आंदोलन में भाग लेंगे। उन्होंने बताया कि कर्मचारी व लोग जनगणना कार्यक्रम का बहिष्कार करेंगे। असहयोग कार्यक्रम के तहत आरटीसी बसों में यात्री बिना टिकट के सफर करेंगे, गृह कर व अन्य करों तथा बिजली बिल का भुगतान नहीं करेंगे तथा स़डकों पर टोलगेट बिलों का भी भुगतान नहीं करेंंगे। उन्होंने कहा कि इस महीने की २२ तारीख से तेलंगाना के सभी १० जिलों में ह़डताल और बंद मनाने का फैसला किया गया है। उन्होंने स्पष्ट किया कि संसद में तेलंगाना मुद्दे पर विधेयक पेश करने तक यह असहयोग आंदोलन चलेगा। कोदंडराम ने कहा कि केंद्र सरकार को तेलंगाना के चार कऱोड लोगों की भावनाआें का सम्मान करना चाहिये और तेलंगाना बनने तक हम पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने सभी वर्गोंं के लोगों से तेलंगाना हासिल करने के लिए आगे ब़ढकर असहयोग आंदोलन में भाग लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से केंद्र व राज्य सरकार पर दबाव ब़ढेगा, तो तेलंगाना अपनेआप तेलंगाना बन जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सीमांध्र के संपन्न वगा] के साथ ख़डे होकर तेलंगाना के लोगों को दबोचने का प्रयास कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार तेलंगाना क्षेत्र में रच्चबंडा कार्यक्रम के नाम से पुलिसराज चला रही है और पुलिस लोगों की पिटाई करने के अलावा उनके खिलाफ अवैध मामले दर्ज कर जेल में कैद कर रही है।
कर्मचारी यूनियनों की जेएसी के नेता स्वामी ग़ौड ने कहा कि तेलंगाना के लिए अगर उनकी नौकरी जाती है, तो भी वे आंदोलन नहीं छ़ोडंगे। उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार से तेलंगाना क्षेत्र में रोजगार के अवसर मुहैया कराने तथा तेलंगाना समस्या का तत्काल समाधान करने की मांग की। उन्होंने सभी विभागों के कर्मचारियों से तेलंगाना आंदोलन की दिशा में कूच करने का आह्वान किया। असहयोग आंदोलन के कार्यक्रम इस प्रकार हैं:
17 को कर्मचारियों के समर्थन में रैली, १८ को केंद्र सरकार के कार्यालयों के सामने पिकेंटिंग, १९ को रास्ता रोको, राष्ट्रीय राजमार्ग पर चक्काजाम, २० को शहरों में ‘वॉक फार तेलंगाना’ गांवों में प्रभातभेरी, २१ को आंदोलन में सहयोग नहीं देने वाले विधायकों के पुतले फूंके जायेंगे तथा २२ को तेलंगाना क्षेत्र में सार्वत्रिक ह़डताल व बंद का आयोजन किया जायेग

No comments:

Post a Comment