Wednesday, July 13, 2011

तेलंगाना के नौ जिलों मैं सफल

रहा " वंटा वार्पू "का आयोजन

निज़ामाबाद |पृथक तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर तेलंगाना जे ऐ सी के अहवाह्न पर मंगलवार को तेलंगाना के नौ जिलों (हैदराबाद को छोड़कर) मैं "वटा वार्पू " यानि सड़क पर खाना पकाओ और खाओ का आयोजन किया गया |इसके पहले जून माह की बीस तारीख को प्रदेश की राजधानी हैदराबाद मैं यह कार्यक्रम आयोजित किया गया था| जिसकी तीखी गंध से यू पी ऐ सरकार की जहाँ नीद हरम हुई वहीँ प्रदेश की राजनीति मैं एक नया भूचाल सा आ गया ,जिसके तहत तेलंगाना क्षेत्र के लगभग सभी राजनितिक पार्टियों (जिसमे कांग्रेस भी शामिल)के विधायकों सांसदों ने तो इस्तीफा दिया ही वहीँ सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस के मंत्रियों को भी इस्तीफा देने पर मजबूर होना पड़ा| अब पृथक तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर आंदोलनकारियों ने मंगलवार को तेलंगाना क्षेत्र में सड़कों पर भोजन पकाकर प्रदर्शन किया, वहीं उस्मानिया विश्वविद्यालय के छात्रों का आमरण अनशन दूसरे दिन जारी रहा।
तेलंगाना संयुक्त कार्रवाई समिति (जीएसी) के कार्यकर्ताओं ने अपने जारी आंदोलन के तहत नौ जिलों में यह अनोखा विरोध प्रदर्शन आयोजित किया। पिछले माह चूंकि हैदराबाद में ऐसा प्रदर्शन हुआ था, इसलिए जेएसी ने इस समय क्षेत्र के शेष भागों में यह कार्यक्रम चलाया।तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस), भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जेएसी से जुड़े अन्य दलों एवं संगठनों के नेताओं ने 'वंता वारपू' (सड़क पर भोजन पकाकर प्रदर्शन) में भागीदारी की। यह प्रदर्शन क्षेत्र के वारंगल, करीमनगर, निजामाबाद, मेडक, आ
दिलाबाद, नलगोंडा, महबूबनगर एवं अन्य जिलों में आयोजित किया गया।राजनीतिक एवं गैर-राजनीतिक संगठनों के नेताओं ने सड़कों पर बड़ी संख्या में रसोई स्थापित की, खाना पकाया और मिल-जुलकर भोजन किया। प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाओं ने भाग लिया। वे मांग कर रहे हैं कि केंद्र सरकार जल्द ही पृथक राज्य गठन की प्रक्रिया शुरू करे।भाजपा राज्य इकाई के अध्यक्ष जी. किशन रेड्डी ने वारंगल कस्बे में किए गए प्रदर्शन में भाग लिया।
इस बीच, उस्मानिया विश्वविद्यालय के छात्रों का आमरण अनशन दूसरे दिन मंगलवार को भी जारी रहा। किसी भी हिंसक प्रदर्शन पर काबू पाने के लिए विश्वविद्यालय के बाहर पुलिस तथा केंद्रीय अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। पुलिस का कहना है कि छात्रों ने अधिकारियों से अनुमति लिए बगैर अनशन शुरू किया।उस्मानिया विश्वविद्यालय संयुक्त कार्रवाई समिति (ओयूजीएसी) ने तेलंगाना क्षेत्र में बुधवार को सभी शैक्षिक संस्थान बंद रखने का ऐलान किया है।ओयूजीएसी ने जीएसी के आह्वान पर गुरुवार को तेलंगाना क्षेत्र में सड़क जाम करने की मुहिम को समर्थन देने की घोषणा की। छात्रों की योजना क्षेत्र के विधायकों के इस्तीफे विधानसभा अध्यक्ष द्वारा स्वीकार करने की मांग को लेकर शुक्रवार को विधानसभा तक जुलूस निकालने की है।उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह क्षेत्र के कम से कम 100 विधानसभा सदस्यों ने अपना इस्तीफा पेश किया था।

No comments:

Post a Comment