Saturday, October 15, 2011




तेलंगाना में फि नहीं चलीं रेलें,
तीन दिन का बंद शुरू

निज़ामाबाद| पृथक राज्य तेलंगाना की मांग को लेकर गठित सयुंक्त समन्वय समिति (जे..सी.)द्वारा घोषित ७२ घंटे के रेल रोको के तहत शनिवार से शुरू हुए तीन दिवसीय बंद के दौरान एक भी रेले तेलंगाना के दासों जिलों मैं नहीं चलीं _वहीँ ..रेलवे ने स्थिति को भांपते हुए पहले से ही १२७ रेले स्थगित कर दी हैं| उधर महाराष्ट्र मैं भी नागपुर प्रखंड ने भी दरजनों गाड़ियों को स्थगित कर दिया है या फिर कुछ के मार्ग बदल दियें हैं|इस बीच शनिवार की सुबह निज़ामाबाद रेलवे स्टेसन पर बधन - कचिगुदा सवारी गाड़ी को रेल प्रशासन ने चलने का प्रयास भी किय,जिसे रकने के आरोप मैं तेरास के नेता रविंदर रेड्डी एवम .एस प्सेत्ति को गिरफ्तार भी कर लिया गया |इसी दौरान निज़ामाबाद के सांसद मधु गौड़ को उनके सरसवती नगर स्थित घर मैं ही उस समय पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया जब वे अपने समरठकों के साथ रेलवे स्टेसन जा रहे थे| वहीँ जे. सी.निज़ामाबाद के चेयरमैन गोपाल शर्मा को पुलिस ने रेलवे स्टेसन पर उस समय गिरफतार कर लिया जब वे एक नकली बुर्काधारी महिला के साथ स्टेसन में प्रवेश कर रहे थे|स्थिति उस समय हास्यास्पद हो गई जब महिला पुलिस ने उस बुर्काधारी महिला को गिरफ्तार करने के बाद उसकी पहचान के लिए जब बुर्का हटाया तो वह पुरुष निकला ,जिसे चद कर महिला फुलिस वहां से हट गई,फिर उसे गिरिफ्तर कर लिया गया |बाद में गोपाल शर्मा को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया| खबर लिखे जाने तक निज़ामाबाद में पुलिस ने लगभग दो दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया था| विशेष बात यह है कि निज़ामाबाद स्टेसन आज पूरी तरह पुलिस छावनी में तब्दील हो गया था |तेलंगाना का समर्थन करने वाली निज़ामाबाद एवम आदिलाबाद की भाजपा इकाई इस बंद में भाग नहीं ले रही है| इसके पीछे भाजपाइयों का कहाँ है की १८ अक्तूबर को अडवानी निज़ामाबाद तह आदिलाबाद यात्रा के दौरान पहुँच रहे है, लिए उन्हों ने मांग की थी कि इस बंद को उसके बाद किया जाए| लेकिन पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत बंद का आयोजन किया गया है |
उधर हैदराबाद से मिल रही खबरों के मुताबिक आंध्र प्रदेश में पृथक तेलगांना राज्य की मांग को लेकर आंदोलनरत तेलंगाना समर्थकों का तीन दिवसीय रेल रोको अभियान शनिवार को शुरू हो गया। इस दौरान पुलिस ने कई जगहों पर सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया। तेलंगाना राष्ट्र समिति [टीआरएस] की सांस्कृतिक इकाई तेलंगाना जागृति की नेता के. कविता को पुलिस ने रेलवे अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर हैदराबाद के माउला अली के निकट रेलमार्ग को अवरुद्ध कर दिया था। टीआरएस प्रमुख के. चंद्रशेखर राव की बेटी कविता को पुलिस गिरफ्तार कर केसारा पुलिस थाने ले गई। राव के बेटे और विधायक के. ताराका रामा राव को भी तेलंगाना राष्ट्र समिति [जेएसी] के अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ सिकंदराबाद में सिताफलमंडी से गिरफ्तार कर लिया गया। ये लोग रेल रोको अभियान में हिस्सा लेने जा रहे थे। टीआरएस नेताओं ने सरकार को चेतावनी दी है कि आंदोलन में भाग लेने वाले लोगों के खिलाफ यदि पुलिस कार्रवाई की गई तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। इस बीच सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी की सांसद पूनम प्रभाकर, जी. विवेक और राजैया को भी वारंगल और करीमनगर जिलों से गिरफ्तार कर लिया गया। इसके अलावा कई नेताओं और विधायकों को या तो नजरबंद कर दिया गया है या फिर रेल रोको आंदोलन में हिस्सा लेने से पहले ही हिरासत में ले लिया गया। हैदराबाद सहित तेलंगाना के 10 जिलों में ये गिरफ्तारियां की गई। केवल महबूबनगर जिले से ही 100 से अधिक प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया। तीन दिनों के रेल रोको अभियान को देखते हुए रेलवे की ओरसे पहले ही 126 रेलगाड़ियां स्थगित कर दी गई है|

No comments:

Post a Comment