Sunday, October 16, 2011

सांसद विजया शांति व् पूनम
प्रभाकर सहित कई को
जेल
निज़ामाबाद
| आंध्र प्रदेश में पृथक तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर जारी तीन दिवसीय रेल रोको अभियान में शामिल होने वाले एक सांसद और तेलंगाना क्षेत्र के दो विधायकों को रविवार को जेल भेज दिया गया। पुलिस ने बताया कि सिकंदराबाद में रेलवे की एक अदालत ने तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस)सांसद विजयशांति और आठ अन्य लोगों को 22 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। उन्हें चंचलगुडा सेंट्रल जेल ले जाया गया है।

करीमनगर जिले की पेड्डापल्ली से कांग्रेसी सांसद जी. विवेक और 16 अन्य लोगों को जमानत पर रिहा कर दिया गया है। करीमनगर की सांसद पूनम प्रभाकर और राज्य के पूर्व मंत्री जीवन रेड्डी को शनिवार रात को दो सप्ताह के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। टीआरएस के विधायकों हरीश राव और ई. राजेंद्र को भी रेल रोको अभियान में शामिल होने के लिए जेल भेज दिया गया। टीआरएस प्रमुख के. चद्रशेखर राव के बेटे और विधायक के. ताराका रामा राव और पुत्री के.कविता को 13 अन्य लोगों के साथ जमानत पर रिहा कर दिया गया।
इस बीच पुलिस ने रेल रोको अभियान के पहले दिन 3,000 से अधिक प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया, जिसमें तेलंगाना क्षेत्र के सांसद और विधायक भी शामिल थे। इस बीच जेएसी के समन्वयक एम. कोडानडरम, चंद्रशेखर राव, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता विद्यासागर राव और तेलंगाना कर्मचारी संघ के नेता स्वामी गौ़ड के खिलाफ करीमनगर जिले रामागुंडम कस्बे में रविवार को मामला दर्ज किया गया। टीआरएस और जेएसी के नेताओं के खिलाफ भी निजामाबाद जिले के एक पुलिस थाने में शनिवार को मामला दर्ज किया गया था।


No comments:

Post a Comment