Sunday, October 16, 2011

एक माह से ठप बस सेवाएं हुई बहाल

निज़ामाबाद आंध्र प्रदेश राज्य स़डक परिवहन निगम कर्मचारियों ने लोगों की असुविधाओं को ध्यान में रखते हुए पिछले 28 दिनों से जारी हडताल से रविवार को अलग कर लिया। कर्मचारियों के इस फैसले के बाद तेलंगाना क्षेत्र में बस सेवा बहाल हो गईं जिससे लोगों को काफी राहत मिली। ज्ञात हो कि पृथक तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर जारी ह़डताल में इन कर्मचारियों के भी शामिल होने की वजह से सरकारी बसें भी लगभग एक महीने से स़डकों पर नहीं चल रही थीं। ह़डताल की वजह से सात करो़ड रूपये के राजस्व का नुकसान हुआ है।
अब तेलंगाना क्षेत्र के नौ जिलों के निगम के 60 हजार कर्मचारी काम पर लौट आए हैं। कमर्चारी संघ के नेताओं ने लोगों की असुविधाओं का ध्यान रखते हुए हडताल से अलग होने का फैसला किया। कर्मचारियों के एक ध़डे ने हालांकि पिछले सप्ताह ही ह़डताल से अलग होने का फैसला किया था लेकिन अधिकांश कर्मचारियों के ह़डताल में शामिल होने की वजह से बसें नहीं चल पा रहीं थीं। निगम की ओर से 10 हजार में से केवल तीस फीसदी बसें हैदराबाद और खम्मम जिले में चलायी जा रहीं थीं।
इस बीच सरकारी कर्मचारियों, शिक्षकों और राज्य की सिंगारेनी खदानों के कर्मचारी पिछले 34 दिनों से ह़डताल पर हैं, जिसकी वजह से कोयले का उत्पादन पर खासा असर प़डा है। सरकार को उम्मीद है कि सिंगारेनी के कर्मचारियों की ह़डताल भी जल्द ही समाप्त हो जाएगी। रेल रोको अभियान से अच्छे तरीके से निपटने के बाद सरकार अब तेलंगाना क्षेत्र में माहौल सामान्य बनाने की कोशिश कर रही है। निजी शैक्षणिक संस्थानों के सोमवार से खुलने की उम्मीद है।

No comments:

Post a Comment