Sunday, October 30, 2011

तेलंगाना मुद्दे पर
==========
आन्ध्र के तीन कांग्रेसी विधायकों ने दिया इस्तीफा
हाथ झटक कर कार पर होंगे सवार

निज़ामाबाद |कांग्रेस पर पृथक तेलंगाना राज्य के गठन के वादे से पीछे हटने का आरोप लगाते हुए जे कृष्णा राव, एस सत्यनारायण और टी राजनाथ ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया. तीनों ने तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) में शामिल होने का निर्णय लिया है.तीनों विधायकों ने अपने इस्तीफे कांग्रेस की राज्य इकाई के अध्यक्ष बोत्सा सत्यनारायण को भेज दिये हैं.तीनों विधायकों ने संयुक्त रूप से एक संवाददाता सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस पर आरोप लगाया कि पार्टी नौ दिसम्बर, 2009 को किए अपने वादे से पीछे हट गई है. कांग्रेस ने पृथक तेलंगाना राज्य की प्रक्रिया शुरू करने का वादा किया था.कृष्णा राव ने कहा, "तेलंगाना के हालात से कांग्रेस और क्षेत्र के कांग्रेसी नेताओं की आंखें खुल जानी चाहिए. हम इसके लिए कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं." राव ने तेलंगाना क्षेत्र के सभी मंत्रियों व विधायकों से भी आग्रह किया कि उन्हें अपने इस्तीफे दे देने चाहिए.वारंगल जिले के स्टेशन घानपुर से विधायक टी राजनाथ ने कहा, "हमने क्षेत्र की जनता की आकांक्षाओं के अनुरूप तेलंगाना आंदोलन में सक्रिय रूप से हिस्सा लेने के लिए इस्तीफे दिए हैं."एस सत्यनारायण ने कहा, "हम पृथक तेलंगाना राज्य के गठन के लिए किसी भी पार्टी के साथ हाथ मिलाने को तैयार हैं."कृष्णा राव ने कहा, "क्षेत्र में जनता के बीच कांग्रेस के खिलाफ गुस्सा है. लोगों को लगता है कि कांग्रेस ने उनके साथ धोखा किया है और 700 युवकों की आत्महत्या के लिए वह जिम्मेदार है. तेलंगाना का कोई भी कांग्रेसी नेता पार्टी का झंडा लगाकर क्षेत्र में घूमने की स्थिति में नहीं है."कृष्णा राव महबूबनगर जिले की कोल्लापुर विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं. उन्होंने पृथक तेलंगाना के पक्ष में निर्णय लेने के लिए पार्टी नेताओं पर दबाव बनाने हेतु मई में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.


No comments:

Post a Comment