Sunday, December 4, 2011

नहीं रहे सदाबहार अभिनेता देव साहब

निज़ामाबाद (आन्ध्र प्रदेश )। सदा बहार अभिनेता देव साहेब का आज रविवार को लन्दन के एक अस्पताल में निधन हो गया |वे 88 वर्ष के थे |पंजाब के गुरुदासपुर में 23 सितम्बर 1923 में जन्मे देव साहब का अंतिम संस्कार भी वहीँ किया जा रहा है | उन्होंने लाहौर (अब पाकिस्तान में ) के गवर्मेंट कालेज से अग्रेजी में आनर्स किया था | उसके बाद सन 1943 की जुलाई माह में रुपहले परदे पर अपना भाग्य अजमाने मुम्बई आ गए | उस समय उनकी जेब में मात्र तीस रुपये ही थे | पेट पालने के लिए उन्हों ने प्रधान डाक घर के सेंसर कार्यालय में नौकरी कर ली | देवानन्द साहब ने कभी अपनी बदती उम्र का अहसास ही नहीं होने दिया |तभी तो उनका कहना था कि "जब तक जिन्दा हूँ संघर्ष करता रहूँगा,जब संघर्स ख़तम हुआ तो समझो आप का जीवन भी ख़तम हो गया |" आज हिंदी फिल्म जगत बालीवुड जिंदगी जीने का नया सलीका सिखाने वाले सदाबहार अभिनेता देव आनंद के चले जाने के गम में डूबा है और सभी की जुबान पर यही शिकवा है कि देव साहब के साथ एक युग का अंत हो गया।बालीवुड के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में दर्ज राजू 'गाइड' के साथ एक अनोखी प्रेम कहानी की नायिका 'रोजी' वहीदा रहमान ने देव साहब के निधन की खबर सुनकर यही कहा कि उन्हें यह खबर सुनकर बेहद दुख हुआ है। क्योंकि वह उनके पहले नायक थे और उन्होंने अपनी अधिकतर फिल्में उन्हीं के साथ की थीं।उन्होंने कहा कि बालीवुड को हमेशा उनसे कुछ न कुछ सीखने को मिला क्योंकि उनके अंदर बहुत ऊर्जा थी। उन्होंने कहा, 'मैं अक्सर उनसे कहती थी कि लगता है तुम्हारे अंदर एवरेडी बैटरी लगी है।'मैगास्टार अमिताभ बच्चन ने ट्वीटर पर लिखा है कि देव साहब के निधन से एक युग समाप्त हो गया। देव आनंद एक ऐसा शून्य छोड़ गए हैं जो शायद कभी नहीं भरा जा सकेगा। कभी हार न मानने का उनका विश्वास और जिंदगी को जश्न की तरह जीने की ललक।उन्होंने लिखा, 'कुछ दिन पहले एक समारोह में देव साहब से मुलाकात हुई थी। वह कमजोर लग रहे थे लेकिन जिंदादिली से भरपूर थे। मीडिया से उनके निधन की खबर की पुष्टि हुई। देव साहब के बारे में खबरों को खंगाल रहा हूं। प्रार्थना कर कर रहा हूं कि ये सच न न हों। वह इतनी सकारात्मक सोच वाले इंसान थे कि कभी मौत उनसे जुड़ी दिखाई ही नही देती थी।'अनुपम खेर ने देव आनंद पर फिल्माए गाने 'अभी न जाओ छोड़कर' को याद कर उन्हे श्रद्धांजलि दी। देव आनंद का शनिवार देर रात लंदन में निधन हो गया। फिल्म जगत की हस्तियों में देव साहब के निधन के साथ ही हुए एक युग के अंत पर अपनी शोक संवेदना जाहिर करने के लिए ट्विटर का भी सहारा लिया।अनुपम खेर ने कहा, 'देव साहब के निधन की खबर अभी सुनी। देव साहब दयालु, साहसी, उत्साही, स्पष्टवादी, आकर्षक एवं महान इंसान थे। हम उन्हे याद करेगे। उनका गाना 'अभी न जाओ छोड़कर' हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन गया है।' गायिका श्रेया घोषाल ने कहा, 'देव आनंद साहब नहीं रहे। उनकी आत्मा को शांति मिले। वह वास्तव में सिनेमा के लिए उत्कृष्ट व्यक्ति थे।' निर्देशक संगीत सिवन ने कहा, 'देव आनंद का जाना बेहद दुखद है।'अभिनेत्री दिया मिर्जा ने कहा, 'देव साहब की आत्मा को शांति मिले। फिल्मकार महेश भट्ट ने कहा, 'देव आनंद नहीं रहे। मुंबई में नई सुबह के साथ, मैं इस महान कलाकार को सलाम करता हूं।' प्रख्यात अभिनेत्री शबाना आजमी ने कहा कि देव साहेब ने पूरी जिंदगी अपनी शर्तो पर जी। लाखों लोग उन्हे याद करते रहेंगे। मैं उनके उत्साह को सलाम करती हूं।'



No comments:

Post a Comment