Saturday, December 17, 2011

अब एम् एन एस दूध भी बेचेगी
निज़ामाबाद| देश क़ी औधोगिक राजधानी मुम्बई में अब महाराष्ट्र नव निर्माण सेना उत्तर भारतीयों के दूध के धंधे में चोट करने के उद्देश्य से स्वयं दूध बेचने का मान बना लिया है |किसका सीधा सा अर्थ यह भी निकला जा सकता है कि एम्.एन.एस अब महाराष्ट्र में राजनीति के बजाय रोजगार में लग रही है|लगे भी क्यों आखिर पार्टी भी तो चलानी है भाई ? मुम्बई से जो खबरें रही है उसके मुताबिक राज ठाकरे की पार्टी ने मुंबई के आसपास के इलाकों में अपनी पार्टी के समर्थकों और कार्यकर्ताओं को दूध के कारोबार में उतारने की सहकारिता योजना तैयार की है। दूध के ब्रैंड का नाम होगा 'मुंबई दूध- स्वाद महाराष्ट्र का'
जाहिर है कि मराठियों को इस दूध के प्रति आकर्षित करने के लिए ही ब्रैंड के साथ में टैग लाइन जोड़ी गई है- स्वाद महाराष्ट्र का। राज ठाकरे के करीबी दो एमएनएस नेताओं सुनील बसाखेत्रे और राजन गावंड ने मिलकर यह योजना तैयार की है। इसके लिए मुंबई नैचुरल डेयरी फूड्स ऐंड बेवरेजेज नाम की एक नई कंपनी भी बनाई गई है। इस स्कीम को सफल बनाने का जिम्मा एमएनएस के रोजगार शाखा पर होगा।
एमएनएस के निशाने पर जोगेश्वरी, गोरेगांव, बोरीवली और मलाड के साथ-साथ शहर के पड़ोसी इलाकों में चल रहे हिंदी भाषियों के तबेले हैं। इसके जरिए मुंबई के अलावा नजदीकी इलाकों ठाणे, कल्याण, डोंबिवली, अंबरनाथ और पनवेल आदि में भी दूध बेचने की योजना है।
मुंबई दूध बेचने के लिए डिस्ट्रिब्यूटर और हॉकरों की नियुक्ति की पहली शर्त उसका महाराष्ट्र का मूल नागरिक होना है। यही नहीं पार्टी दूध की खरीद भी सिर्फ मराठी लोगों से ही करेगी।

No comments:

Post a Comment